Janmashtami SpecialsDownload Bhakti Bharat APP

मैं बालक तू माता शेरां वालिए: भजन (Main Balak Tu Mata Sherawaliye)


मैं बालक तू माता शेरां वालिए: भजन

मैं बालक तू माता शेरां वालिए,
है अटूट यह नाता शेरां वालिए ।
शेरां वालिए माँ, पहाड़ा वालिए माँ,
मेहरा वालिये माँ, ज्योतां वालिये माँ ॥
॥ मैं बालक तू माता शेरां वालिए...॥

तेरी ममता मिली है मुझको, तेरा प्यार मिला है,
तेरे आँचल की छाया में मन का फूल खिला है।
तुने बुद्धि, तुने साहस, तुने ज्ञान दिया
मस्तक ऊँचा करके जीने के वरदान दिया माँ।
तू है भाग्य विधाता, मैं बालक तू माता शेरां वालिए॥
॥ मैं बालक तू माता शेरां वालिए...॥

जब से दो नैनो में तेरी पावन ज्योत समायी,
मंदिर मंदिर तेरी मूरत देने लगी दिखाई ।
ऊँचे पर्वत पर मैंने भी डाल दिया है डेरा,
निशदिन करे जो तेरी सेवा मैं वो दास हूँ तेरा ।
रहूँ तेरे गुण गाता, मैं बालक तू माता शेरां वालिए ॥

मैं बालक तू माता शेरां वालिए,
है अटूट यह नाता शेरां वालिए ।
शेरां वालिए माँ, पहाड़ा वालिए माँ,
मेहरा वालिये माँ, ज्योतां वालिये माँ ॥

दुर्गा चालीसा | आरती: जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी | आरती: अम्बे तू है जगदम्बे काली | महिषासुरमर्दिनि स्तोत्रम् | माता के भजन

Main Balak Tu Mata Sherawaliye in English

Main Balak Tu Mata Sherawaliye, Hai Atut Yah Naata Sherawaliye
यह भी जानें

Bhajan Maa Durga BhajanMata BhajanNavratri BhajanMaa Sherawali BhajanDurga Puja BhajanMaa Durga BhajanJagran BhajanMata Ki Chauki BhajanShukravar BhajanFriday Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

वो काला एक बांसुरी वाला - भजन

वो काला एक बांसुरी वाला, सुध बिसरा गया मोरी रे। माखन चोर वो नंदकिशोर जो..

अब मैं सरण तिहारी जी - भजन

मीराबाई भजन - अब मैं सरण तिहारी जी, मोहि राखौ कृपा निधान ॥ अजामील अपराधी तारे, तारे नीच सदान..

जन्माष्टमी भजन - बड़ा नटखट है रे, कृष्ण कन्हैया

बड़ा नटखट है रे कृष्ण कन्हैया, का करे यशोदा मैय्या॥ बड़ा नटखट है रे...

उनकी रेहमत का झूमर सजा है - भजन

उनकी रेहमत का झूमर सजा है । मुरलीवाले की महफिल सजी है ॥

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया - भजन

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया, कोई हमदर्द तुमसा नहीं है, दुनिया वाले नमक है छिड़कते..

मेरो कान्हा गुलाब को फूल - भजन

मेरो कान्हा गुलाब को फूल, किशोरी मेरी कुसुम कली ॥ कान्हा मेरो नन्द जू को छौना..

श्री राधिका स्तव - राधे जय जय माधव दयिते

राधे जय जय माधव-दयिते, गोकुल-तरुणी-मंडल-महिते, दामोदर-रति-वर्धन-वेषे..

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App